सुमन योजना – सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना – Surakshit Matratva Aashvasan Suman Yojana

सुमन योजना, गर्भवती महिला योजना, शिशु योजना, मातृत्व आसवासन सुमन योजना, सुरक्षित मातृत्व योजना, mahila yojana, suman yojana, central govt. scheme, pm modi scheme, modi yojana, modi latest yojana, free delevary yojana

हेलो दोस्तों कैसे उम्मीद करूँगा सब एकदम बढ़िया होंगे। दोस्तों आज हम लेकर आये केंद्र सरकार की योजना यानि मोदी सरकार की नई योजना सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना। दोस्तों इस योजना को केंद्र सरकार ने माता और नवजात शिशु की मृत्यु दर को जीरो करने के लिए सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना (Surakshit Matratva Aashwasan Suman Yojana) को 10 अक्टूबर 2019 गुरुवार को लॉन्च कर दिया हैं। सुमन योजना से गर्भवती महिलाओ, माताओ को प्रसव के फ्री दवाये, फ्री एम्बुलेंस, फ्री जाँच की सुविधा दी जाती हैं। सुमन योजना को सरकार ने बच्चो की मरने की दरो को ख़त्म करने के लिए शुरू किया हैं, ताकि कोई बच्चा मरे नहीं और कोई भी महिला को गरीबी के कारण गर्भ के दौरान किसी तरह की कोई भी परेशानी ना उठानी पड़े।

Highlights of Surakshit Matratva Aashwasan Suman Yojana

योजना का नामसुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना (Surakshit Matratva Aashwasan Suman Yojana)
कब चालू की गई10 अक्टूर 2019
किसके द्वारा चालू की गईप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा
लाभार्थीगर्भवती महिलाएं
ऑफिशियल वेबसाइटhttps://suman.nhp.gov.in
सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना
महिलाओं के ल‍िए सरकारी योजना

सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना

केंद्र सरकार ने माता और नवजात शिशु मृत्यु दर को जीरो करने के लिए सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना (Suman Yojana 2019) को 10 अक्टूबर 2019 गुरुवार को लॉन्च कर दिया हैं। सुमन योजना 2019 (Central Govt. Scheme-Suman Yojana) में गर्भवती महिलओं, माताओ को प्रसव के 6 महीने बाद और बीमार नवजात शिशुओ को मुफ्त/फ्री स्वास्थ्य सुविधाओ (Free Healthcare Benefits to Pregnant Women) का लाभ मिल सकेगा। इस सरकार योजना से मोदी सरकार का मानना हैं की देश में इससे माताओ और शिशु की मृत्यु दर में बहुत कमी आ सकती हैं।

सुमन योजना

सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना 2019 के (Central Govt. Scheme-Suman Yojana) तहत लाभार्थी महिलाये सार्वजानिक स्वास्थ्य सेवा केन्द्रों पर जाकर सेवा/सुमन योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगी। इससे नियमित प्रसव जाँच के साथ-साथ महिला के शरीर में विटामिन, आयरन, कैल्सियम की जाँच भी शामिल हैं।

केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री ने कहा की प्रधानमंत्री सुरक्षा अभियान के तहत चेकअप, आयरन फोलिक एसिड सप्लीमेंट, टेटनस डिप्थीरिया इंजेक्शन और व्यापक एएनसी पैकेज के अन्य घटक और घर पर जाकर शिशु की जाँच शामिल की गई हैं।

सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना सुविधाएं

  • प्रधानमंत्री सुमन योजना (PM Suman Yojana) में गर्भवती महिला को अपनी जांच करावाने के क‍िसी भी प्रकार से पैसे देने की कोई जरूरत नहीं होगी ये एकदम न‍िशुल्‍क रहेगा
  • घर से स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र तक जाने के ल‍िए सरकार ने परिवहन सुविधा भी दी है
  • क‍िसी भी गंभीर या आपातकाल की स्थिति में एक घंटे के भीतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा उपलब्‍ध कराई जाऐगी
  • इसके बाद अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद घर तक पहुचने के लिए भी सरकार द्वारा ही फ्री वहां उपलब्ध कराया जायेगा।
  • प्रधानमंत्री सुमन योजना (PM Suman yojana) में चेकअप भी फ्री दिया जायेगा।

सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना की प्रमुख विशेषता

  • विटामिन, आयरन, कैल्शियम की फ्री जाँच
  • प्रधानमंत्री सुरक्षा अभियान के तहत फ्री चेकअप, आयरन फोलिक एसिड सुप्लिमेंट, टेटनेस डिप्थीरिया इंजेक्शन और व्यापक एएनसी पैकज
  • घर पर जाकर शिशु की जाँच
  • 102 या 108 पर कॉल कर किसी गभवती महिला को अस्पताल तक पहुचाने के लिए मुफ्त वाहन सुविधा
  • घर से अस्पताल के लिए वाहन सुविधा निशुल्क
  • सुरक्षित मातृत्व आसवासन योजना में महिला के साथ-साथ बच्चे की भी पूरी देखभाल

गर्भवती महिला को सुरक्षित मातृत्व की गारंटी

स्वस्थ्य मंतालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा की नई योजना सुमन योजना (Suman Yojana) के तहत हर गर्भवती महिला को सुरक्षित मातृत्व की गारंटी दी जाएगी। इसके तहत गर्भवती महिला को प्रसव से पहले चार बार मुफ्त जाँच का अधिकार होगा, जिसमे महिला के साथ-साथ गर्भस्थ शिशु की सेहत का भी पता चल सकेगा।

सुरक्षित मातृत्व आसवासन सुमन योजना का सभी खर्च सरकार उठाएगी

प्रसव के दौरान होने वाले सभी खर्च चाहे ऑपरेशन से ही क्यों न हो, सरकार उठायागी। प्रसव के बाद छह महीने तक माँ और बच्चे को मुफ्त दवाईयां भी उपलब्ध कराएगी। नवजात बच्चे के किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त होने की स्थिथि में उसके इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाएगी।

सुमन योजना का लाभ कैसे ले

सभी गर्भवती महिलाओ तक योजना का लाभ पहचाने के लिए स्वस्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने एक ‘सर्विस गारंटी चार्टर” जारी किया हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा हैं की दूरदराज के इलाको तक गभवती महिलाओ तक पहुचने के लिए सरकार ने स्वंय सयायता समूहों, गाँव स्तर पर बनी स्वस्थ्य व स्वच्छ्ता समितियों के साथ एनजीओ की सहायता लेने का फैसला किया हैं।

सुमन योजना में महिलाओ को सुविधा से वंचित नहीं रहना पड़ेगा

सौ फीसदी प्रसव अस्पताल में करने का लक्ष्य हासिल करना मुश्किल नहीं हैं। अभी तक 80 फीसदी प्रसव अस्पतालों में हो रहा हैं। जिनमे 52 फीसदी सरकारी अस्पतालों में हो रहा हैं। सुमन योजना अभियान से यह सुनिश्चित करने की कोशिश की जाएगी की पैसे की कमी के कारन किसी महिलाओ को प्रसव के दौरान अस्पताल की सुविधा से वंचित नहीं रहना पड़े।

Surakshit Matritva Aashwasan Suman Yojana Complaint Online

अगर आपको इस स्कीम का लाभ लेने में किसी भी प्रकार की समस्या आ रही हैं या फिर आपको इस योजना के बारे में और अधिक जानना चाह रहे हैं तो आप इसके तहत अपनी शिकायत भी दर्ज करवा सकती हों। सुरक्षित मातृत्व सुमन योजना में अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए आपको आफॅशियल वेबसाइट पर जाना होगा।

  • साइट पर जाने के बाद आपके सामने Grievance का फार्म ओपन हो जायेगा।
  • यहां आपको सबसे पहले अपना अकाउन्ट बनाना हैं।
  • अकाउन्ट बनाने के लिए आपको नीचे की तरफ New User Register का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस पर क्लिक करना हैं।
  • अब आपके सामने वापस एक नया पेज ओपन होगा।
  • यहां दिये गये फार्म में आपको सबसे पहले अपना नाम, ईमेल और फोन नम्बर टाइप करने हैं।
  • उसके बाद आपको अपना राज्य, जिला और अपना गॉंव सलेक्ट करना हैं।
  • लॉस्ट में आपको Subject देना है
  • अब Grievance वाले कॉलम में आपको अपनी शिकायत दर्ज करनी हैं जो भी हों।
  • उसके बाद आपको कैप्चा कोड़ टाइप करना हैं।
  • लॉस्ट में Submit बटन पर क्लिक करना हैं।

अब आपकी शिकायत दर्ज हो चुकी हैं। इसका स्टेटस देखने के लिए आपको वापस Track Your Grievance वाले पेज पर जाना होगा जहां से आपने New User Register के लिए क्लिक किया था। अब आपके मोबाइल और ईमेल पर यूजर नेम और पासवर्ड आपको मिल जायेगा उसी से आपको यहां लॉगिन करना हैं। तो इस तरह आप अपनी शिकायत का स्टेटस भी देख सकते हों।

यह भी पढ़े

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *