प्रधानमंत्री ग्राम समृद्धि योजना – PM Gram Samridhi yojana – pm scheme

प्रधानमंत्री ग्राम समृद्धि योजना – PM Gram Samridhi yojana – pm scheme, Pradhanmantri scheme in hindi

PM Gram Samridhi yojana

सभी लोग रोजगार पाने के लिए गांवो से शहरो की ओर पलायन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ग्राम समृद्धि योजना : क्‍योंकि गांवो में लोगो को  रोजगार नही मिल पाता जिससे परेशान होकर वो काम की तलाश में शहरों की तरफ जा रहे हैं। इसलिए सरकार ग्रामीणों की समस्‍याओं को देखते हुए इस योजना की शुरूआत की हैं। इसके तहत सरकार अब गांवो में भी रोजगार प्रदान करवाएगी।जिससे गाव के लोग गांव में ही अपना रोजगार कर सकेगे। यह योजना गांव के लागो को रोजगार देने के उद्देश्‍य से ही शुरू की गई हैं।

यह योजना केन्‍द्र सरकार द्वारा शुरू की गई हैं।

प्रधानमंत्री ग्राम समृद्धि योजना
Pm gram samriddhi yojana

प्रधानमंत्री ग्राम समृद्धि योजना

ग्राम समृद्धि योजना के अनेक उद्देश्‍य हैं इसके उद्देश्‍यो को ध्‍यान में रखते हुए सरकार ने इस योजना को शुरू किया हैं।

इसके उद्देश्‍य निम्‍नलिखित हैं:-

  • इस योजना का सबसे बढा उद्देश्‍य गांव का विकास करना हैं।
  • गांव के विकास के साथ वहा के लागो को गांव में ही रोजगार प्रदान करना।
  • लोगो को रोजगार के लिए गांव से शहरो की और ना जाना पडे।
  • इस योजना के तहत गांव में इनक्‍यूबेटर भी प्रदान किए जाएगे जिससे गांव का विकास होगा।
  • ग्रामीण क्षेंत्रों में असंगठित खाद्य प्रसंस्‍करण क्षेत्र में सामान्‍य सुविधा केन्‍द्र स्‍थापित किए जा सकते हैं।
  • गांव के छोटे किसानो को व्‍यक्तिगत खाद्य प्रोसेसर को सब्सिडी प्रदान करना हैं।
  • छोटे किसानो की ऋण तक पहुच भी नही होती उन्‍हे इसके तहत सब्सिडी पर लोन देना।
  • उनकी मौजुदा क्षमताओ को आगे विकसित करना।
  • फार्म टू मार्केट सप्‍लाई चैन को मजबूत करना।

ये सब इस येजना के मुख्‍य उद्देश्‍य हैं।

ग्राम समृद्धि योजना के तहत दी जाने वाली सुविधा

इस योजना में गांव के छोटे किसानो को सुविधा प्रदान की जाएगी।

इसके तहत दी जाने वाली सुविधाए निम्‍न हैं:-

  • छोटे किसान को जो गांव में रहते हैं उन्‍हें देश में 70,000 सूक्ष्‍म खाद्य प्रसंस्‍करण यूनिट बनाने की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • प्रत्‍येंक यूनिट के लिए 10 लाख रूपए से कम पूंजी निवेश होगा।
  • किसान इसके तहत दूसरो को भी रोजगार प्रदान कर सकेगे।
  • खाद्य प्रसंस्‍करण यूनिट की स्‍थापना के लिए प्रोत्‍साहन राशि भी दी जाएगी।
  • मौजुदा यूनिट में टेक्‍नोलोजी में बदलाव करने, मैनेजमेंन्‍ट में सुधार करने तथा तकनीक में सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इसके तहत लाभार्थी को बैंक से ब्‍याज पर 3% से 5% तक की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • सब्सिडी के लिए आवेदन की प्रक्रिया को ऑनलाइन रखा गया हैं।

इस योजना में ‘भारत के विश्‍व खाद्य कार्यक्रम’ को बडे स्‍तर तक पहुचना मुख्‍य उद्देश्‍य हैं।

ग्राम समृद्धि योजना में वित्‍त पोषण

इस योजना में वित्‍त पोषण विश्‍व बैंक, केन्‍द्र सरकार तथा संबंधित राज्‍य की सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

  • विश्‍व बैंक द्वारा 1500 करोड रूपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
  • केंन्‍द्र सरकार द्वारा हजार करोड रुपये की राशि दी जाएगी।
  • इसमें संबंधित राज्‍यों के द्वारा 500 करोड रुपये वहन किये जाएगें।
  • इस प्रकार इसमें कुल 300 करोड रुपये की लागत लगाई जाएगी।

योजना से संबंधित अन्‍य महत्‍वपूर्ण बातें

इस योजना की शुरूआत सबसे पहले 4 राज्‍यों में की गई।जिसमें आन्‍ध्रप्रदेश, उत्‍तरप्रदेंश, महाराष्‍ट्र, और पंजाब राज्‍य शामिल किए गए हैं।

  • इस योजना को सम्‍पूर्ण देंश में लागू करने का लक्ष्‍य 5 वर्ष रखा गया हैं।
  • गांवों के विकास को बढाने के लिए असंगठित क्षेंत्रों के 25 लाख खाद्य प्रसंस्‍करण उद्मियों को लक्षित किया किया गया हैं।
  • इस प्रकार इस योजना में सिर्फ गांवो के विकास की ओर ध्‍यान देंना हैं।
  • छोटे किसानो को उन्‍नत बनाना व देंश को विकास की ओर उन्‍मुख करना।

इस प्रकार इस योजना से गांवो में रोजगार विकसित होगा जिससे बेरोजगारो को रोजगार मिलेगा।

इसकी अधिक जानकारी के लिए विभाग की अधिकारिक साइट पर देंखे।

यह भी पढे़
पीएम आवास योजना लिस्ट राजस्थान
पार्षद कैसे बने – वार्ड का पार्षद कैसे बने – पार्षद बनने के लिए क्या-क्या नियम होते हैं
PM आवास योजना लिस्ट 2020
खाद्य सुरक्षा लिस्ट राजस्‍थान 2021
विशेष योग्यजन लोगों के लिए 8 बड़ी सरकारी योजनाएं
प्रधानमंत्री महिला लोन योजना
Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin List Jharkhand
प्रधानमंत्री रोजगार योजना
पीएम किसान मोबाइल एप
नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021 – All State Job Card List

4 thoughts on “प्रधानमंत्री ग्राम समृद्धि योजना – PM Gram Samridhi yojana – pm scheme”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *