Kaushalya Yojana Registration MP – कौशल्या योजना क्या है

Kaushalya Yojana Registration MP – कौशल्या योजना क्या है , MMKY, मध्‍य प्रदेश योजना, Skill Scheme Application Form, MP Yojana

जैंसा कि हम  सभी जानते हैं कि सरकार महिलाओ, बेरोजगारो, किसान भाईयों के लिए अनेक योजनाओ की शुरूआत की हैं। आज हम ऐसी ही एक योजना की बात करने जा रहे हैं जिसका नाम हैं मुख्यमंत्री कौशल्‍या योजना एमपी (Mukhyamantri Kaushalya Yojana MP)। इस योजना में महिलाओं को प्राथमिकता दी गई हैं। उन्‍हें रोजगार के प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण दिया जाता हैं। यह प्रशिक्षण लाभार्थी को निशुल्‍क प्रदान किया जाएगा।जिसके तहत वो अपना स्‍वयं का रोजगार शुरू कर सके। यह योजना मध्‍यप्रदेंश सरकार द्वारा चलाई गई हैं। इसमें एक वर्ष में 2 लाख महिलाओ को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। जिससे महिलाओ को रोजगार मिलेगा व महिलाए आत्‍मनिर्भर बनेगी। इसमें किन महिलाओ को शामिल किया जाएगा यह भी निर्धारित किया गया हैं।

इस आर्टिकल में हम इस योजना के बारे में विस्‍तार से जानेगे कि यह किसके लिए हैं व इसके तहत लाभार्थी को क्‍या लाभ दिया जाएगा।

Kaushalya Yojana Registration MP

Highlights of Kaushalya Yojana Registration MP

योजना का नाममुख्यमंत्री कौशल्या योजना (Mukhyamantri Kaushalya Yojana Madhya Pradesh)
लाभरोजगार के लिए महिलाओं को कौशल प्रशिक्षण करवाना
लाभार्थीमध्य प्रदेश में रहने वाली महिलाएं
लक्ष्यहर साल लगभग 2 लाख महिलाओं को प्रशिक्षित करना
ऑफिशियल वेबसाइटhttp://www.mpskills.gov.in/mpskill

Kaushalya Yojana का उद्देश्‍य

  • इस योजना के तहत महिलाओ को रोजगार व स्‍वरोजगार प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण देना।
  • ताकि महिलाए आत्‍मनिर्भर बन सके व उन्‍हे दूसरे पर आश्रित नही होना पडे।
  • गैंर परम्‍परागत क्षेंत्रो में कौंशल प्रदान कर महिलाओ की भागीदारी तय करना।
  • महिलाओ को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर प्रदान करना।
  • प्रशिक्षण के बाद महिलाए अपना स्‍वयं का रोजगार खोल सकेगी।
  • योजना के तहत वर्ष में 2 लाख महिलाओ को प्रशिक्षण देना।

योजना के तहत इन्‍हें मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री कौशल्‍या योजना (Kaushalya Yojana Registration MP) के तहत इन सभी को लाभ प्रदान किया जाएगा।

  • जिन महिलाओ ने औंपचारिक शिक्षा प्रणाली को छोंड दिया हैं।
  • जो महिलाए अपना कौंशल विकसित कर स्‍वयं का रोजगार शुरू करना चाहती हैं।
  • अपने कौंशल को बढाने के लिए जो महिलाए प्रशिक्षण चाहती हैं।
  • जो महिलाए कामगार हैं और अपने अनौपचारिक कौंशल का प्रमाणीकरण चाहती हैं।
  • जो महिलाए नक्‍शलवादी प्रभावित क्षेंत्र से संबंधित हैं उन्‍हें आवासीय प्रशिक्षण।

Kaushalya Yojana Registration MP के लिए पात्रता

  • जिन महिलाओं की उम्र 15 वर्ष से अधिक हैं वो इसके लिए पात्र हैं।
  • आधार नंबर होना जरूरी हैं।
  • NSQF पाठ्यक्रमों के लिए भारत सरकार द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रमों के तहत न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता आवश्यक है ।
  • आवेदिका मध्‍यप्रदेंश की महिला होनी चाहिए।

Kaushalya Yojana Registration MP Documents

  • आधार कार्ड
  • स्‍थायी निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र (आरक्षित वर्ग के लिए)
  • शैंक्षणिक प्रमाण पत्र
  • यदि दिव्‍यांग हैं तो उसका प्रमाण पत्र

Kaushalya Yojana Registration MP

जो भी इच्‍छुक लाभार्थी इसके लिए आवेदन करना चाहता हैं वो अपनी शैंक्षणिक योग्‍यता के अनुसार निर्धारित पाठ्यक्रम के लिए ऑनलाइन चयन के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रशिक्षणार्थियों द्वारा पोर्टल पर पंजीकरण किया जाएगा। इसके पंजीकरण के समय आधार संख्‍या का उपयोग किया जाएगा। ताकि कोई भी उम्‍मीदवार योजना का एक से अधिक बार आवेदन नही कर सके।

योजना का क्रियानवयन हेतु पात्र संस्‍थान

  • शासकीय संस्‍था – ITI,कौशल विकास केन्‍द्र, पॉलिटेक्निक, इंजीनियरिंग कॉलेज, कृषि इंजीनियरिंग कॉलेज,उच्‍च शिक्षा विभाग के महाविघालय आदि।
  • अर्ध सरकारी संस्‍था – प्रशिक्षण प्रदाता संस्‍थाए,IGTR, निफ्ट, ATDC, भारत संचार निगम लिमिटेड आदि।
  • निजी संस्‍थाए – सेक्‍टर स्क्लि काउंसिल से एफिलिऐटेट निजी प्रशिक्षण प्रदाता अनुभवी संस्‍थाए।

प्रशिक्षण कार्यक्रम का भुगतान

योजना के तहत यह निर्धारित किया जाएगा कि कम से कम 70 प्रतिशत प्रशिक्षणार्थियों को कम से कम 3 महीने तक लगातार रोजगार दिया जाएगा। नही तो प्रशिक्षण प्रदाता को चौंथी किस्‍त नही दी जाएगी। प्रशिक्षण का संपूर्ण व्‍यय कॉमन कॉस्‍ट नॉमर्स के अनुसार संबंधित संस्‍थाओ को MPSSDM द्वारा किया जाएगा। यह भुगतान विभिन्‍न किस्‍तों में किया जाता हैं।

किश्तकुल लागत का प्रतिशतअशासकीय संस्थाओं हेतु भुगतान किश्तों का विवरण
पहली30 प्रतिशतप्रशिक्षण बैच प्रारंभ होने के पश्चात्
दूसरी30 प्रतिशतकम से कम 70 प्रतिशत प्रशिक्षणार्थियों का न्यूनतम 70 प्रतिशत उपस्थिति के साथ प्रशिक्षण अवधि पूर्ण होने के उपरांत।
तीसरी20 प्रतिशतपरीक्षा में सम्मिलित में से कम से कम 70 प्रतिशत प्रशिक्षणार्थियों के प्रमाणीकरण के उपरांत।
चौथी20 प्रतिशतप्रमाणीक्रत प्रशिक्षणार्थियों में से कम से कम 70 प्रतिशत प्रशिक्षणार्थियों को कम-से-कम तीन माह तक सतत् रोजगार प्रदान किये जाने के उपरांत

यह भी पढ़े

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *