जननी सुरक्षा योजना 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन – (JSY) Janani Suraksha Yojana

जननी सुरक्षा योजना 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन – (JSY) Janani Suraksha Yojana – Janani Suraksha Yojana in Hindi – जननी सुरक्षा योजना के लाभ – जननी सुरक्षा योजना क्या है – जननी सुरक्षा योजना आवेदन – PM Janani Suraksha Yojana – पम जननी सुरक्षा योजना

सरकार ने देश की गरीब महिलाओं और बुर्जुगों के लिए बहुत सी योजनाएं चलाई हैं जिससे गरीब जनता को आर्थिक सहायता प्राप्त हो सके। ऐसे में ही सरकार ने देश की गरीब महिलाओं के लिए एक योजना चलाई हुई जिसका नाम जननी सुरक्षा योजना हैं, इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को लाभ के रूप में 1000 रूपये से 1400 रूपये तक सहायता राशि दी जाती हैं। Janani Surksha Yojana का लाभ आपको कैसे मिलेगा, इस योजना के लिए आपको आवेदन कैसे करना होगा, कौनसे दस्तावेज लगाये जायेगें और कौनसी गर्भवती महिलाओं को सहायता दी जायेगी इस आर्टिकल के माध्यम से जानेगें।

Janani Surksha Yojana

सरकार ने गर्भवती महिलाओं के लिए जननी सुरक्षा योजना (Janani Surksha Yojana) चलाई हुई जिसके तहत गरीब गर्भवती महिलाओं में संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देना हैं यानि गरीब महिलायें बिना हॉस्पिटल जायें ही घर पर ही बच्चा पैदा कर लेती हैं इससे उस बच्चें की जान को खतरा होता और महिला की भी जान का खतरा बना रहता हैं ऐसे में सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत सुरक्षित मातृत्व कार्यक्रम को चालू किया जिसके तहत जननी सुरक्षा योजना को महिलाओं के लिए चलाया ताकि महिलायें लाभ के लिए हॉस्पिटल में जाकर प्रसव करवायें और मातृत्व एवं नवजान शिशु की जान जाने से बचा सके।

Janani Suraksha Yojana
Janani Surksha Yojana

Janani Surksha Yojana को 12 अप्रैल 2005 में माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा चालू किया गया था जिसके तहत जो महिलायें गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन यापन कर रही हैं और वह गर्भवती है तो सरकार द्वारा उन्हें इस स्कीम के तहत एक हजार रूपये से चौदहसौ रूपये तक की सहायता देती हैं।

योजना के बारे में

योजना का नामजननी सुरक्षा योजना (JSY) Janani Suraksha Yojana
कब शुरू की गई12 अप्रैल 2005
किसके द्वारा चालू की गईप्रधानमंत्री जी द्वारा
लाभार्थीदेश की गर्भवती महिलायें
उद्देश्यसंस्थागत प्रसव को बढ़ावा देना और मातृत्व एवं नवजात शिशु की मृत्युदर को घटाना
ऑफिशियल साइटnhm.gov.in

जननी सुरक्षा योजना का उद्देश्य

Janani Surksha Yojana का मैन उद्देश्य गरीब गर्भवती महिलाओं में संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देकर मातृत्व एवं नवजात शिशु की मृत्यु दर को घटाना हैं। इस योजना को कुछ राज्यों के विशेष रूप के साथ सभी राज्यों एवं संघ राज्य क्षेत्रों में चलाई गई हैं। वैसे JSY केन्द्र द्वारा प्रायोजित की जा रही हैं। इस योजना के दौरान प्रसूति पूर्व देखभाल, प्रसव के दौरान संस्थागत देखभाल तथा प्रसूति उपरांत के साथ नकद राशि के रूप में सहायता प्रदान करती हैं।

इस योजना के तहत कुछ राज्यों में घर पर ही प्रसव को बढ़ावा दिया जा रहा हैं जिसकी वजह से मातृत्व और नवजात शिशु दोनों को ही खतरा होता हैं इसलिए धनराशि के लालच में अब हॉस्पिटल में प्रसव करवा सके।

(JSY) जननी सुरक्षा योजना की विशेषताएं

यह योजना गरीब गर्भवती महिला पर ध्यान केंद्रित करती हैं, जिसके तहत यूपी, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, असम, राजस्थान, उड़ीसा और जम्मू कश्मीर जैसे राज्यों में निम्न संस्थागत प्रसव दर हैं जबकि राज्यों को निम्न प्रदर्शन करने वाले राज्यों के रूप में नामित किया गया हैं और बाकी के बचे शेष राज्यों को उच्च प्रदर्शन करने वाले राज्यों के रूप में नामित किया गया हैं।

इस योजना के तहत पंजीकृत प्रत्येक लाभार्थी के पास एक एमसीएच कार्ड के साथ एक जेएसवाई कार्ड भी होना चाहिए। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सा अधिकारी और एएनएम की संपूर्ण देखरेख में पहचान की गई संबंधित अधिकृत कार्यकर्त्ता आशा/एडब्ल्यूडब्ल्यू अनिवार्य रूप से विस्तृत जन्म योजना तैयार करेगें।

जननी सुरक्षा योजना की पात्रता (Janani Suraksha Yojana Eligibility)

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास एक एमसीएच कार्ड (MCH Card) और जेएसवाई कार्ड (JSY Card) होना चाहिए।
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सा अधिकारी और एएनएम की संपूर्ण देखरेख में पहचान की गई संबंधित अधिकृत कार्यकर्त्ता आशा अनिवार्य रूप से विस्तृत जन्म योजना तैयार करेगें।
  • यह प्रभावी रूप से प्रसव पूर्व जांच और प्रसवोत्तर देखभाल की निगरानी में मदद करेगा।
  • जिनके पास बीपीएल कार्ड (BPL Card) नहीं उनके लिए अभी कोई अपडेड़ नहीं हैं और हैं तो आप लगा सकते हों।

बीपीएल परिवार में वहां के राज्य / संघ शासित प्रदेश, ग्राम प्रधान या वार्ड सदस्य को अधिकृत करते हुए गरीब और गर्भवती माता के परिवार की ज़रूरतमंद स्थिति के प्रमाणपत्र के लिए एक सरल मानदंड तैयार करेगें।

जननी सुरक्षा योजना के फायदे/लाभ (Janani Suraksha Yojana Benefits)

Janani Surksha Yojana के अन्तर्गत दो प्रकार से लाभ दिया जाता हैं यानि एक तो ग्रामीण क्षेत्र में गर्भवती महिला और दूसरी शहरी क्षेत्र की गर्भवती महिला। दोनों में क्षेत्रों में आपको अलग-अलग प्रकार से लाभ दिया जाता हैं।

ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली गर्भवती महिलाएं

जो महिलायें ग्रामीण क्षेत्रों में रहती हैं उनके लिए सरकार ने शहरी क्षेत्र में मिलने वाले लाभ से ज्यादा लाभ देती हैं। अगर कोई महिला ग्रामीण क्षेत्र से और वह गर्भवती हैं तो उसको अपने नजदीकी किसी मान्यता प्राप्त हॉस्पिटल में जाना होगा या फिर अपने आस-पास किसी ऑंगनबाड़ी में जाकर किसी आशा सहयोगिनी या फिर एएनएम से सम्पर्क करना होगा और उसे पूरी जानकारी देनी होगी। वैसे ऑंगनबाडी कार्यकर्त्ता स्वयं ही आपके घर भी आकर आपको लाभ दिलवा देगी।

एलपीएस के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा 1400 रूपये का लाभ प्रदान किया जाता हैं और जो ऑंगरबाड़ी की आशा सहयोगिनी हैं उसे सूचना देने पर 600 रूपये का लाभ प्रदान किया जाता हैं यानि कुल मिलाकर 2000 रूपये सरकार द्वारा दिये जाते हैं दोनों को अलग-अलग लाभ दिये जाते हैं। वहीं अगर एचपीएस ग्रामीण क्षेत्र में जो गर्भवती महिलायें हैं उन्हें 700 रूपये और आशा को 200 रूपये दिये जाते हैं यानि कुल मिलाकर 900 रूपये दिये जाते हैं।

शहरी क्षेत्र में रहने वाली गर्भवती महिलाएं

जो गर्भवती महिलाऐं शहरी क्षेत्रों में रहती हैं उन्हें ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली महिलाओं से थोड़ा कम लाभ दिया जाता हैं यानि अगर कोई महिला ग्रामीण क्षेत्र में रहती हैं और वो गर्भवती/प्रेंग्नेट हैं तो सरकार द्वारा उसे अपने नजदीकी किसी सरकारी अस्पताल में या मान्यता प्राप्त प्राईवेट अस्पताल में जाना होगा, आप वैसे ऑंगनबाडी कार्यकत्ता या आशा सहयोगिनी/ANM कार्यकर्त्ता के पास भी जाकर सूचना दे सकते हों।

उसके बाद प्रसव होने के बाद गर्भवती महिला यानि माता को पैकेज के रूप में 1000 रूपये हाथों हाथ दे दिये जाते हैं और वहीं आशा सहयोगिनी को पैकेज के रूप में 200 रूपये दिये जाते हैं यानि कुल मिलाकर सरकार द्वारा 1200 रूपये का लाभ दिया जाता हैं। 1200 रूपये एलपीएस श्रेणी वालों को दिया जाता हैं और वहीं एचपीएस क्षेत्र के अन्तर्गत गर्भवती महिला को 600 रूपये और आशा सहयोगिनी को 200 रूपये दिये जाते हैं यानि कुल मिलाकर 800 रूपये का लाभ सरकार द्वारा दिया जाता हैं।

लाभ लेने के लिए करें यह काम

गर्भवती महिलाओं के लिए हम एक जरूरी बात यानि महत्वपूर्ण जानकारी और देना चाहते हैं कि आपको आर्थिक सहायता का लाभ लेने के लिए संस्थान में किसी सरकारी अस्पताल में ही अपना प्रसव करवाना होगा। अगर आपको अस्पताल के बारे में कोई जानकारी नहीं हैं तो आप अपने आस-पास किसी भी ऑंगनबाड़ी में जाकर ऑंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता या आशा सहयोगिनी की मदद ले सकती हैं वो आपको अस्पताल में ले जाकर आपका प्रसव करवा सकती हैं, अगर आपके क्षेत्र में ऑंगनबाड़ी नहीं हैं या फिर आपके आस-पास नहीं हैं तो आप एएनएम (ANM) के पास भी जाकर गर्भ की जानकारी दे सकती हों ऑंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता और एएनएम दोनों ही आपके लाभ लेने वाले सभी दस्तावेज आपके तैयार करवाकर आपको लाभ दिलवाने में मदद करेगी।

महत्वपूर्ण जानकारी

प्रसव के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थान में जाने वाली गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य संस्थान में योजना के तहत मिलने वाले लाभ की राशि एक बार में नकद दे दी जायेगी। यह देखते हुये कुछ महिलाऐं प्रसव पूर्व देखभाल के लिए निजी संस्था में जाती हैं तो उन्हें टीटी इंजेक्शन सहित कम से कम तीन एएनसी प्राप्त करने के लिए कुछ वित्तीय सहायता की आवश्यकता होगी। ऐसे में मामलों में जननी सुरक्षा योजना (JSY) के तहत नकद सहायता का कम से कम तीन चौथाई लाभार्थी को एक बार में महत्वपूर्ण रूप से प्रसव के समय दिया जायेगा।

जननी सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा गाइडलाइन भी जारी की गई जिन्हें आपको पूरा करना होता हैं।

वैक्सीन सर्टिफिकेट डाउनलोड करें
Old Age Pension List UP 2022
गिरदावरी ऑनलाइन राजस्थान
नमामि गंगे योजना में नौंकरी का मौंका – बिना परीक्षा मिलेगी अधिकारी की नौंकरी
Mukhyamantri Udyam Kranti Yojana Online Registration
पीएम फ्री सिलाई मशीन योजना आवेदन कैसे करें
महिलाओं को मिलेगें फ्री में स्मार्टफोन
आधार कार्ड से लोन कैसे ले
PM Kisan Yojana Kyc ऐसे करें वरना नहीं मिलेगी 2000 की किस्तें
मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना रजिस्ट्रेशन : ऑनलाइन आवेदन

Leave a Comment

Your email address will not be published.