किसानों के लिए शुरू हुई नई योजना E-NAM योजना – E-NAM Yojana

By | 14th April 2020

E Nam Yojana, प्रधानमंत्री क‍िसान योजना, राष्‍ट्रीय कृषि बाजार, क‍िसानों को होगा डबल फायदा, मोदी सरकार द्वारा शुरू क‍िसान योजना, मोदी सरकार की क‍िसान योजना, E-NAM yojana, National Agriculture Market Yojana, मोदी योजना

E Nam Yojana
kisan Update

शुरू हुई नई योजना E Name Yojana

E Nam Yojana: दोस्‍तोंं जैसा क‍ि आपको पता है क‍ि मोदी सरकार आये द‍िन कुछ ना कुछ योजनायें क‍िसान भाईयों को ल‍िऐ चलाती रहती है

और देश के क‍िसानों को फायदा पहुचाती रहती है। आपको पता है क‍ि आये द‍िन कोई ना कोई क‍िसान भाई आत्‍म हत्‍या करता रहता है। सरकार का लक्ष्‍य है क‍ि क‍िसानों के ल‍िए बडी बडी योजनायें चलाये ज‍िससे क‍िसान भाई अपना गुजारा चला सके। मोदी सरकार ने ऐसे पिछले साल भी एक योजना चलाई थी जिसका नाम प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना था। इस योजना में किसानों सालाना 6000 रूपये की आर्थिक मदद की जाती है जो कि बैंक अकाउंट में की जाती हैं।

तो अब जान लेते है ई नाम योजना क्‍या हैं और इसके क्‍या लाभ हैं।

E-NAM राष्‍ट्रीय कृषि बाजार योजना

नरेन्‍द्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) ने क‍िसानों की आमदनी दोगुनी करने के ल‍िए शुरू की ऑनलाइन मंडी ह‍िट हो गई है।

सरकार की ओर से जारी आंकडो के मुताब‍िक, अभी तक देश के करीब पौने दो करोड यानि 1.65 करोड क‍िसान इस मंडी से जुड चुके है। इसका नाम राष्‍ट्रीय कृषि बाजार योजना (E-NAM) है। आपको बता दे क‍ि साल 2017 तक ई-मंडी से स‍िर्फ 17 हजार क‍िसान ही जुडे थे। ई-नाम एक इलेक्‍ट्रॉनिक कृषि पोर्टल है। जो पूरे भारत में मौजूद एग्री प्रोडक्‍ट माकेर्टिंग कमेटी को एक नेटवर्क में जोडने का काम करती है। इसका मकसद एग्रीकल्‍चर प्रोडक्‍ट के ल‍िए राष्‍ट्रीय स्‍तर पर एक बाजार उपलब्‍ध करवाना है।

इससे फायदे को देखते हुए क‍िसान तेजी से इसके साथ जुड रहे है।

नई किसान योजना E nam yojana

नेशनल एग्रीकल्‍चर मार्केट के जरिए कृषि उत्‍पादों का अधिक दाम म‍िलेगा तो 2022 तक क‍िसानों की आमदनी दोगुनी भी हो जायेगी।

अगर गोरखपुर का कोई क‍िसान अपनी उपज ब‍िहार मे बेचना चाहता है तो कृषि उपज को लाने-ले जाने और मार्केटिंग करना आसान हो गया है, मतलब साफ है क‍ि क‍िसन और खरीददार के बीच से ई-नाम ने दलाल खत्‍म कर द‍िए है, इसका लाभ न स‍िर्फ क‍िसानों बल्कि ग्राहकों को भी म‍िलेगा, क‍िसान और व्‍यापारियों के बीच के इस कारोबार में स्‍थानीय कृषि उपज मण्‍डी के ह‍ित को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा।

क्‍योंकि पूरा व्‍यापार उसके माध्‍यम से ही होगा।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सरकार की सभी सरकारी योजनाओं की सूची

इंटरनेट से जोडी गई है देश की 585 मंडिया

ई-नाम के तहत देश के विभिन्‍न राज्‍यों में स्थित कृषि उपज मंदी को इंटरनेट के जरिए जोडा गया है।

इसका टारगेट यह है क‍ि पूरा देश एक मंडी क्षेत्र बने। अगर मध्‍यप्रदेश का कोई क‍िसान अपनी उपज ब‍िहार या अन्‍य राज्‍य में बेचना चाहता है तो कृषि उपज को लाने ले जाने और मार्केटिंग करना आसान हो गया है। क‍िसान को इस टेंशन से म‍िल रही है छुटटी – बाजार और उत्‍पाद का अच्‍छा दाम म‍िलना क‍िसानों की सबसे बडी समस्‍या है, क‍िसान बडी हसरत से अपने खेत में बुआई करता है, फसल तैयार करना है, महिना बाद जब फसल तैयार हो जाती है तो उसे बाजार का संकट होने लगता है, वह फसल काट कर मंडी ले जाता है, और वहां जब उसका औना-पौना दाम लगता है तो वो परेशान हो उठता है

चलो यह भी जान लेते हैं आखिर क्‍या है ई नाम योजना

ई नाम योजना क्‍या हैं

क्‍या है E-NAM: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने क‍िसानों के इस सबसे बडे दर्द को समझा

और फसलों की ऑनलाइन ब‍िकवाली के ल‍िए देश भर में कृषि बाजार (ई-मंडी) खोल दी। इसका मतलब है राष्‍ट्रीय कृषि बाजार।

  • इसकी शुरूआत 14 अप्रैल 2016 को की गई थी, इसके तहत रजिस्‍टर्ड होकर क‍िसान अपनी उपज अच्‍छी कीमत पर कहीं भी बेच सकते है।
  • अब वे ब‍िचौलियों और आढतियोंं पर न‍िर्भर नहीं है।
  • सरकार ने अब तक देश की 585 मंडियों को ई-नाम के तहत जोडा है।
  • केन्‍द्रीय कृषि मंत्रालय के तहत काम करने वाला लघु कृषक कृषि व्‍यापार संघ (SFSC) ई-नाम को लागू करने वाली सबसे बडी संस्‍था है।
  • सरकार की योजना इस साल 200 एवं अगले साल 215 और मंडियों को इससे जोडने की है।
  • देशभर में करीब 2700 कृषि उपज मंडियां और 4000 उप-बाजार है।
  • पहले कृषि उपज मंडी समितियों के भीतर या एक ही राज्‍य की दो मंडियेां में करोबार होता था।
  • हाल ही में पहली बार दो राज्‍यों की अलग-अलग मंडियों के बीच ई-नाम से व्‍यापार क‍िया गया।

E-NAM के साथ कैसे जुडे – Kisan E-NAM Yojana Online Registration

इस योजना से जुडने के ल‍िए आपको ज्‍यादा कुछ नहीं करना है बस क‍िसान को मोबाइल फोन चलाना आना चाहिए।

हम जानते है क‍ि बहुत से क‍िसान भाईयो को मोबाइल चलाना नहीं आता है तो आप अपने घर में कोई समझदार व्‍यक्ति से भी ये काम करवा सकते हो, सबसे पहले आपको सरकार की ओर से जारी की गई वेबसाइट पर जाना होगा www.enam.gov.in इसके बाद रजिस्‍ट्रेशन करना होगा, वहां क‍िसान (Farmer) का ऑप्‍शन द‍िखाई देगा, बस आप अपनी ई-मेल आईडी डाल कर अपना पासवर्ड जनरेट कर लेना पासवर्ड आपके मोबाइल पर चला जायेगा और फ‍िर आप लॉगइन करके आपना करोबार शुरू कर सकते हो।

ज्‍यादा जानकारी के लिए सम्‍बन्धित विभाग की साइट पर जायें या सम्‍बन्धित विभाग में सम्‍पर्क करें।

E Nam Yojana Official Websitehttps://www.enam.gov.in/
पीएम किसान योजना स्‍टेटस कैसे देखेंक्लिक
नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2020क्लिक
500 रूपये आये है या नहीं ऐसे चैक करेक्लिक
PM Kisan Rejected List 2020क्लिक

10 thoughts on “किसानों के लिए शुरू हुई नई योजना E-NAM योजना – E-NAM Yojana

  1. mahesh hichami

    hamare yaha 5 laack abi taak nahi aaya hai ye mera accound number 6695001700081610 ye number me daal dena 25 janvari 2020 taak daal dena narayanpu

    Reply
  2. Jeannie Hanchett

    Hello there! This post couldn’t be written any better! Reading through this post reminds me of my good old room mate! He always kept chatting about this. I will forward this write-up to him. Pretty sure he will have a good read. Thanks for sharing!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *