किसान को मिलेगें 15 लाख रूपये – अगर आप किसान है तो जरूर देखें – PM Kisan Breaking News

By | 12th August 2020

किसान को मिलेगें 15 लाख रूपये – अगर आप किसान है तो जरूर देखें – PM Kisan Breaking News – PM Kisan FPO – PM Kisan Latest Scheme 2020

किसान को मिलेगें 15 लाख रूपये
Kisan Yojana Update

किसानों के लिए शुरू हुई नई योजना

किसान को मिलेगें 15 लाख रूपये: सरकार ने किसानों के लिए एक बहुत बेहतर योजना को शुरू किया हैं। जिसका नाम PM Kisan FPO Yojana हैं। इस योजना में किसानों 10 हजार या 15 हजार नहीं बल्कि पूरे 15 लाख रूपये मिलेगें। जी हां दोस्‍तों यह योजना बड़ी जबरदस्‍त योजना हैं। जैसा कि आपको पता हैं कि सरकार ने पीएम किसान योजना को शुरू किया था और इस योजना में बहुत बड़ी मदद किसानों के लिए सरकार ने की हैं। ऐसे ही अब सरकार ने पीएम किसान एफपीओं योजना को शुरू किया हैं। अब हम आपको यह बतायेगें कि इस योजना का लाभ 15 लाख रूपये का आपको कैसे लाभ मिलेगा। क्‍या करना होगा क्‍या पात्रता होगी। इससे पहले हम आपको यह बता देते है कि PM Kisan Samman Yojana की छठी किस्‍त आपको अगस्‍त महिने में मिल सकती हैं।

तो चलिए अब जान लेते है इस नई किसान योजना का लाभ कैसे लेना हैं।

M Kisan Yojana

PM Kisan FPO Yojana

केन्‍द्रीय कैबिनेट ने एक बड़ा फैसला लिया हैं जिसमें किसानों के लिए FPO योजना को शुरू किया हैं। इस योजना से किसानों को आर्थिक सहायता मिल सकती हैं। जैसा कि दोस्‍तों नाम से ही पता लग रहा हैं किसान उत्‍पादक संगठन यानि PFO. इस योजना में आपको एक संगठन बनाकर काम करना होगा। जैस आपने सुना होगा क‍ि एक कमेटी होती हैं उसमें बहुत से लोग काम करते हैं। बस उसी प्रकार इस योजना का लाभ लेने के लिए भी आपको एक कमेटी का निर्माण करना होगा जिसमें आपको किसानों की बहुत बड़ी टीम बनानी होगी।

तो चलिए अब इसका पूरा मतलब आपको बता देते हैं।

आखिर क्‍या हैं किसान उत्‍पादन संगठन (FPO)

यह एक तरह का संगठन होता है जिसमें किसानों के लिए काम किया जाता है। किसान उत्‍पादक संगठन एक कम्‍पनी एक्‍ट के तहत रजिर्स्‍ड होता हैं और केन्‍द्र सरकार इन संगठनों को 15-15 लाख रूपये की आर्थिक मदद करती हैं। इस योजना को इसलिए शुरू किया गया हैं ताकि किसान भाई किसी बड़ी कम्‍पनी की तरह काम कर सके और ज्‍यादा पैसे कमा सके। इसके साथ किसान कारोबार की खेती में अपना काम कर सके।

प्‍यारे मित्रों यह तो हुआ योजना के बारे में अब चलिए यह भी जान लेते हैं कि रूपये लेने के लिए क्‍या करना होगा।

कैसे मिलेगें 15 लाख रूपये

तो चलिए अब जान लेते है कि इसमें रूपये कैसे मिलेगें। इसका लाभ लेने के लिए आपको एक टीम बनानी होगी। यह टीम कम से कम 11 किसानों को अपनी एक कम्‍पनी या संगठन बनाना होगा। आपको इस संगठन में मिलकर काम करना होगा उसके बाद केन्‍द्र सरकार आपके काम को यानि संगठन को देखेगी और इसके बाद इस संगठन को 15 लाख रूपये की सहायता देगी। इस योजना के लिए सरकार लगभग 4496 करोड़ रूपये खर्च कर सकती हैं। इसके साथ ही आपने जो भी संगठन बनाया हैं उसे कम्‍पनी एक्‍ट के तहत रजिस्‍टर्ड होगा तब जाकर आपको लाभ मिलेगा। 15 लाख रूपये लेने के जो आप कम्‍पनी बनायेगें उसमें मैदानी क्षेत्रों के लिए कम से कम 300 किसान होने चाहिए और अगर आप पहाड़ी क्षेत्र में कम्‍पनी बनाते हैं तो आपको कम से कम 100 किसानों का संगठन बनाना होगा।

उसके बाद संगठन का काम देखकर उसे रेटिंग दी जायेगी।

योजना से मिलने वाले अन्‍य लाभ

FPO योजना में रूपयों के अलावा सरकार आपको और भी बहुत तरह के लाभ देगी।

  • जो आप खेत में उपज तैयार करोगें उसके लिए आपको अलग बाजार मिलेगा।
  • इसके साथ ही अगर आप खाद, बीज और दवाई खरीदते हो तो इसमें भी आपको आसानी होगी।
  • इसके अलावा कृषि उपकरणों की खरीद करने में भी आपको आसानी होगी।
  • और इतना ही नहीं इसमें कोई बिचौलिया नहीं होगा यानि सीधा फायदा आपको ही होगा।

तो इस तरह आप पीएम किसान एफपीओ योजना में जुड़कर ज्‍यादा फायदा उठा सकते हों और सरकार की इस योजना का लाभ उठा सकते हों।

ज्‍यादा जानकारी के लिए सम्‍बन्धित विभाग या अधिकारी से सम्‍पर्क करें।

गाय भैंस लोन योजनाView here
आवास योजना शहरी लिस्टView here
नरेगा जॉब कार्ड लिस्टView here
नरेगा मेट कैसे बनेView here

PM Kisan Yojana Official Portal

15 thoughts on “किसान को मिलेगें 15 लाख रूपये – अगर आप किसान है तो जरूर देखें – PM Kisan Breaking News

  1. MITHILESH BHAI patel

    sarkar jo bolta He Bank Thore karta he Kcc kard apply kiye Bolta he koi Kcc kard nahi Banta he

    Reply
  2. Kamal singh gour

    Who will be the model officer to form the FPO at village level. Govt. Saying one district one product, from where we can get the product list.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *